सफलता कोई लक्ष्य नहीं होता है बल्कि यह तो एक सफर होता है जिसमे दिन-प्रतिदिन स्वयं को पहले से बेहतर बनाते हुए निरंतर आगे बढ़ना होता है। हम सब जीवन में गलतियां जरूर करते हैं मगर वो लोग जो सभी तरह की गलतियों से सीखते हैं और फिर दोबारा उस गलती को नहीं दोहराते है वो सफल और परिपूर्ण जीवन जीते हैं।

मैंने जीवन में एक दौर इतना बुरा था जिसे मैं कभी याद भी नहीं करना चाहता हूँ। इस दौर में मैंने एक चीज महसूस की कि जब जीवन कठिनाइयों से गुजर रहा तो बड़ा ही कुशकिल रहता है उस दौर में अपने आप को संभाल पाना। हालात कुछ ऐसे हो जाते हैं जैसे कि आप निरंतर और ज्यादा मुश्किल में पड़ते जाते हैं।

जीवन के उस दौर में मैं ये सोच कर हैरान हो जाता था कि आखिर सफल लोग, जिनके जीवन मे मुझसे लाखों गुणा ज्यादा कठिनाइयाँ और चुनौतियां आयी थी, ऐसा अलग क्या कर जाते है कि वो लोग कुछ वक्त बाद अपने जीवन को असीम ऊँचाई तक ले जा पाते है?

इसी चाहत मै मैंने बहुत से लोगों के जीवन का अध्ययन किया और पाया कि सफल लोग जो करते हैं वह तो महत्पूर्ण है ही मगर यह भी अति महत्वपूर्ण है कि वो क्या नहीं करते हैं। कुछ बातें है जो जरूर की जानी चिहिये होती है मगर ऐसी भी कुछ बातें है जो बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए।

हालांकि जीवन और व्यवसाय बहुत से सबक इंसान को सिखाते हैं इनमें सैंकड़ों बातें हैं जिन्हें वो अपने जीवन मे अपनाते है मगर ये 10 बातें ऐसी हैं जो सफल लोग जीवन में नहीं करते हैं। भूल कर भी कभी नहीं करते हैं। ये पोस्ट एक किताब “Never Go Back: 10 things you will never do again” में लिखी बातों पर आधारित है।

1) सफल लोग उस काम को दोबारा नहीं करते जिससे कोई सकारात्मक परिणाम न मिला हो।

एक कहावत भी है अगर आप वही काम दोहराते रहेंगे जो करते आये हैं तो वही परिणाम मिलते रहेंगे जो मिलते आये हैं। सफल लोग बड़ी तेजी से अपने तरीके बदलते है और ऐसा तब तक करते हैं जब तक लक्ष्य हासिल न हो जाये मगर किसी भी हालत में न तो लक्ष्य को बदलते हैं और न  पुराने तरीके को दोहराते है। सफल लोग दुखी रहने या पछतावा करने में समय व्यर्थ नहीं गवांते है बल्कि तुरंत अगले विकल्प पर कार्य करना शुरू कर देते हैं।


2) सफल लोग कभी दूसरों को बदलने के लिए मेहनत जाया नहीं करते।

सफल लोग भली-भांति यह समझते हैं कि बाहरी परिस्थितियों और दूसरों को बदलना बहुत मुश्किल होता है इसलिए वे अपनी पूरी ऊर्जा और ध्यान इस बात पर केंद्रित करते हैं कि स्वयं को और बेहतर कैसे बनाएं। वे अच्छी तरह से समझते हैं कि स्वयं को बदलना ही परिणाम को बदलने का सबसे आसान तरीका है।

असफल लोग अक्सर परिस्थितियों को सुधारने एवं दूसरे लोगों को अपने मुताबिक बदलने में ज्यादा ऊर्जा जय कार देते हैं। असफल लोग मुश्किल से ही समझ पाते हैं कि बेहतर बदलाव की शुरुआत हमेशा स्वयं से शुरू होती है।

3) सफल लोग सबको खुश करने की कोशिश कभी नहीं करते।
यह बात भी सभी सफल लोगों में सामान्य है। सफल लोग इस बात की परवाह कभी नहीं करते कि लोग या दुनिया उनसे खुश है या नहीं। सफल लोग सिर्फ उन लोगों पर अपना ध्यान देते हैं जो उनके जीवन के लिये सबसे महत्वपूर्ण होते हैं। सफल लोग ये बात अच्छी तरह से समझते हैं कि सभी लोगों को खुश कर पाना सम्भव नहीं है।

4) सफल लोग क्षणिक सुख के लिए भविष्य के चिरस्थाई फायदे की बलि नहीं देते हैं।

सफल लोग भली भांति समझते हैं कि उनका मकसद क्या है। इस मकसद के रास्ते में कोई भी short term pain उन्हें आगे बढ़ने से नहीं रोक सकती है। अपने मकसद से जुड़ी long term benefit का pleasure उनके लिए ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। इसलिए उनका पूरा ध्यान अपने मकसद के बड़े सुख पर रहता है न कि रास्ते पे आने वाली बाधाओं या छोटे छोटे सुखों पर नहीं।

5) सफल लोग कुछ भी ऐसा नहीं करते जो उनकी चाहत और इच्छा के विपरीत हो।

सफल लोग कुछ भी करने से पहले यह अच्छी तरह सुनिश्चित कर लेते हैं कि जो भी कुछ को कर रहे हैं वह उनके अपने लक्ष्य से संबंधित है या नहीं। कोई भी ऐसे कार्य को करने से बचते हैं जिसका उनके जीवन के लिए कोई अर्थ न हो। सफल लोग दबाव या दिखावे के लिए कोई काम नहीं करते हैं

6) सफल लोग किसी भी परिपूर्ण दिखने वाले तथ्य और लोगों पर आसानी से भरोसा नहीं करते हैं।

सफल।लोग जानते हैं कि दुनिया में कुछ भी ऐसा नाहीज है जिसमे कोई कमी या खामी न हो। इसलिए अगर कोई भी चीज या तथ्य या लोग अगर बिल्कुल perfect या flawless प्रतीत होता हो तो उस पर आसानी से भरोसा नहीं करते हैं। तथ्यों की गहनता से जांच करने के बाद ही कोई निर्णय लेते हैं।

7) सफल लोग अपने vision से कभी आंखें नहीं हटाते हैं।

सफल लोग जानते हैं कि कोई भी success या failure बस एक इवेंट मात्र होता है। इसलिए कभी भी किसी भी event के घटित होने से हताश नहीं होते हैं। सफल लोग यह जानते हैं कि कोई भी अप्रिय स्थिति जीवन रूपी कहानी का एक अध्याय मात्र होता है जिसका जीवन पर कोई ज्यादा असर नहीं होना चाहिए।

8) सफल लोग कभी भी यथोचित परिश्रम (due diligence) के महत्व को दरकिनार नहीं करते हैं।

सफलता बाहर से कितनी ही खूबसूरत और आसान नजर आती हो मगर इसकी गहराई में जाकर ही मालूम पड़ता है कि कितनी ही मेहनत और कर्मनिष्ठा सफलता पाने के लिए झोंकी गई है। सफल लोग ये कभी नहीं भूलते हैं कि सपनों को हकीकत में लाने के लिए कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं है और न हो सकता है।
9) सफल लोग कभी भी अपने आप से कड़े और quality questions पूछना नहीं भूलते है। 

सफल लोगों की ये विशेषता हैरान करने वाली है। सफल लोग जानते हैं कि सही उत्तर सही प्रश्न पूछने पर ही मिलता है। इसलिए वो उच्चतर quality के प्रश्न पूछने की आदत अपनाते हैं। जैसे कि सफल लोग किसी भी परिस्थिति में सबसे पहले ये जानने की कोशिश करते हैं कि उन्होंने स्वयं अपने आप उस स्थिति को पैदा करने में क्या भूमिका निभाई है। जबकि असफल लोग कोई भी स्थिति पैदा होने पर दूसरों की भागदारी को ही जिम्मेदार ठहराते है।
10) सफल लोग कभी नहीं भूलते हैं कि बाहरी सफलता वास्तव में उनके अंदर की सफलता का ही प्रतिबिम्ब होता है।

सफल लोगों के जीवन का यह एक महत्वपूर्ण रहस्य है। सफल लोग जानते हैं कोई भी सफलता अस्तित्व में आने से पहले मन की गहराइयों में पनपती है और अपना रूप लेती है। सफल लोग अच्छी तरह से समझते हैं कि बाहरी बदलाव अंदरूनी बदलाव के बिना नहीं पाए जा सकते है।  इसलिए सफल लोग अपने सपनों और चाहतों की एक clear cut छवी अपने मन मे तयार कर लेते हैं। यही कारण है कि सफल लोग goal setting के महत्व को समझते हुए इसमे निपुणता हासिल कर लेते है। जबकि 95% से ज्यादा लोग कभी goal set ही नहीं करते हैं।


Manoj Sharma

Writer, Trainer and Motivator

1 Comment

Anonymous · February 27, 2018 at 5:53 pm

Nice , thanks for sharing

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: