हिंदी कविताएँ

जीत से पहले (Hindi Poem)

जीतना चाहता है हर शख्स यहां न जाने किस बात से है मजबूर भाग रहा है सफलता पाने को पर मेहनत को न मंजूर छूना चाहते हो आसमाँ त़ो चखना हार का मजा जरुर हार के मायने खुद मे खास है मेहनत की हर सांस मे आस है नया अनुभव Read more…

%d bloggers like this: