www.justhappyminds.com
हिंदी कविताएँ

मेरा गांव बदल सा गया है। (Hindi Poem)

मै ढूंढती हुँ मेरा खेत लहराती फसलें मिट्टी की महकती खुशबू खिलते फूल मै ढूंढती हुँ मां के हाथ की सुखी रोटी खेत के करीब बहते झरने का पानी मैं ढूंढती हुँ बिना मिलावट ताजे फल तारो से झिलमिलाता आसमां शुद्ध स्वस्थ हवाएँ मै ढूंढती हुँ वो पत्थर की गिट्टी Read more…

हिंदी कविताएँ

कुछ कर दिखाना है

“कुछ कर दिखाना है” वो सागर भी क्या सागर जिसका कोई साहिल नहीं वो राहें भी क्या राहें जिनकी कोई मंजिल नहीं हासिल करना है तो उसे कर जो किस्मत मे नहीं ए- मेहरबाँ वो जिदंगी भी क्या जिदंगी जिसमें कोई संघर्ष नहीं जीवन एक बार मिलता है इन्सान को Read more…

%d bloggers like this: